RSCIT Chapter 7: Digital Services for Citizens of Rajasthan

RSCIT Chapter 7: Digital Services for Citizens of Rajasthan (राजस्थान के नागरिकों के लिए डिजिटल सेवाएं) के‌ इस अध्याय में हम संक्षिप्त में जानेंगे राजस्थान में राज्य सरकार द्वारा दी जाने वाली सारी ई-सर्विसेज (ऑनलाइन सेवाएं) के बारे में जिनमें कि ई-गवर्नेंस (E-Governance), ई-मित्र (E-Mitra), राज मेघ, राज धरा, राज ई-साइन (E-Sign), राज ई-वॉल्ट (E-Vault), भामाशाह योजना, राजस्थान संपर्क व ePDS आदि शामिल हैं।

ई – गवर्नेंस (E-Governance)

  • राजस्थान में ई-गवर्नेंस के प्रमुख कार्यक्रम – नागरिकों हेतु
    • भामाशाह योजना
    • ई मित्र
    • राज संपर्क
  • राजस्थान में ई-गवर्नेंस के प्रमुख कार्यक्रम – सरकारी अधिकारियों हेतु
    • HRMS
    • IFMS
    • E-Office
    • E-Procurement

संचार (Communication)

100 MBPS डेडीकेटेड कनेक्टिविटी, 200+ वेबसाइटस् , पोर्टल और एप्लीकेशन की होस्टिंग

  • राजमेघ (Raj Cloud)
    • SaaS सॉफ्टवेयर सेवा के रूप में
    • PaaS प्लेटफार्म सेवा के रूप में
  • राज नेट (Rajasthan Network)
  • ग्राम पंचायत स्तर पर LAN/SWAN/Broadband/Over the Air/Satellite सेवाएं।
  • राजधारा – भौगोलिक सूचना प्रणाली
  • राज सेवा द्वार – भौगोलिक सूचना प्रणाली
  • राजस्थान Single Sign On (SSO)
  • राज ई – वॉल्ट (Raj E-Vault)
  • राज ई – साइन (Raj E-Sign)
  • राज AEM – एंटरप्राइज वेब कंटेंट प्रबंधन प्लेटफार्म
  • AEES – जीपीएस मॉनिटरिंग और बायोमेट्रिक उपस्थिति प्रणाली।

ई – मित्र (E-Mitra)

Public & Private Partnership, Since 2004, SSO (Single Sign-On), KIOSK या अटल सेवा केंद्र Etc…

भामाशाह योजना (Bhamashah Yojna)

  • यह बायोमेट्रिक और कोर बैंकिंग का उपयोग पहचान हैतू करता है।
  • सीधे लाभ हस्तांतरण (Direct Bank AC)
  • वित्तीय समावेशन
  • महिला सशक्तिकरण
  • प्रभावी सेवा वितरण हेतु।

भामाशाह कार्ड (Bhamasha Card)

  • Family Card – महिला मुखिया के नाम पर
  • Individuals Card – पेंशनभोगी, असंगठित श्रमिक

राजस्थान संपर्क (Raj Sampark)

शिकायत निवारण और निराकरण हेतु पारदर्शी जरिया, Since June 2014, Web Portal Services, पारंपरिक प्रणाली

राजस्थान संपर्क की प्रक्रिया (Process of Raj-Sampark)

पंजीकरण (Registration)

Through Mobile App, Web Portal, E – Mitra Kiosk, IT Center, Call Center Etc… पंजीकरण के बाद पंजीकरण ID दी जाती है।

मॉडरेशन (Moderation)
  • शिकायत की जांच
  • पुनः जांच कर सत्यापित करना
  • सही विभाग चयन
  • पुराने संबंधित रिकॉर्ड्स देखना
  • प्राथमिकता तय करना और पृथक्करण करना
  • निवारण प्रक्रिया शुरू करना।
आवंटन (Allocation)
  • शिकायत संबंधित अधिकारियों में बांटना
  • शिकायत को ऑनलाइन ट्रांसफर करना
निराकरण (Disposal)
  • संबंधित लोगों को कॉल या एसएमएस के जरिए स्टेटस अपडेट करना।
  • Relief/Reject
  • Pending etc.
सत्यापन (Verification)
  • शिकायतकर्ता तक राहत पहुंचाना
  • Verification etc

E – Public Distribution System (ePDS)

  • खाद्य की कमी से निपटने के लिए
  • सस्ती कीमत पर अनाज वितरण
  • खाद्य सुरक्षा
  • 400 + स्टोर व 16 करोड लोगों में वितरण
  • BPL परिवारों की पहचान
  • गेहूं ,चावल, चीनी, मिट्टी का तेल (केरोसिन) वितरण।

आवेदन प्रक्रिया (Application Process)

  • Through E – Mitra, CSC
  • www.emitra.gov.in से फॉर्म डाउनलोड करना।
  • फॉर्म भरना

दस्तावेज (Documents)

  • पहचान पत्र (मतदाता)
  • ₹2 का स्टांप
  • आवास प्रमाण
  • कर भुगतान की रसीद/Bank Passbook/बिजली बिल/टेलीफोन बिल आदि में से एक प्रमाणन हेतु।
  • आवश्यक दस्तावेजों के साथ फॉर्म क्षेत्र कार्यालय में जमा कराएं।
  • कार्यालय से Acknowledgement Slip दी जाएगी जिसमें राशन कार्ड प्राप्ति की दिनांक होगी।

राज धरा (Geographical Information System)

  • Geographical डाटा का भंडारण
  • 3D डाटा बनाना (City Model)

भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना (BSBY)

आंतरिक रोगी विभाग में रोगियों को नकद राहत हेतु।

  • उद्देश्य
    • स्वास्थ्य सूचकांक (Health Indicator) को बेहतर बनाना
    • बीमारी के समय वित्तीय कवर की पेशकश
    • भविष्य में नीति निर्धारण हेतु स्वास्थ्य डेटाबेस बनाना
  • लाभार्थी – NFSA के अंतर्गत आने वाले परिवार।

भामाशाह रोजगार सृजन योजना (BRSY)

बेरोजगार युवाओं को अपने पैरों पर खड़े होने के लिए विभिन्न बैंकों द्वारा ऋण प्रदान करवाना।

पात्रता मापदंड (Eligibility Criteria)
  • रजिस्टर्ड बेरोजगार
  • शिक्षित महिलाएं (उच्च माध्यमिक उत्तीर्ण)
  • अनुसूचित जाति व जनजाति
  • विकलांग
आवेदन (Online Application)
  • https://sso.rajasthan.gov.in से आवेदन फॉर्म डाउनलोड करना।
  • आवेदन फॉर्म भरना
  • क्षेत्रीय रोजगार कार्यालय में फॉर्म के साथ अपने दस्तावेजों (शपथ पत्र, प्रमाण पत्र, सबूत) को जमा कराएं। जाति प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, हलफनामा, मूल निवास प्रमाण पत्र, पता प्रमाण पत्र सहित
  • सत्यापन प्रक्रिया में सभी प्रमाण पत्रों की मूल प्रति दिखानी होगी।
  • सत्यापन के बाद साक्षात्कार प्रक्रिया (Interview) में शामिल होना पड़ेगा।
  • साक्षात्कार व सत्यापन प्रक्रिया में उत्तीर्ण होने के बाद ऋण के लाभार्थी बन सकते हैं।

उम्मीद है कि आपको RSCIT Chapter 7 अच्छे से समझ आ गया होगा और आपने अच्छे से याद भी कर लिया होगा, इसी तरह अन्य RSCIT Chapters के भी नोट्स आपको हमारी वेबसाइट पर मिल जाएंगे। नीचे दिए बटन पर क्लिक करके उनको भी जरूर देखें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ